किस तरह आँख में आँसू उतार देती हो,याद-ए-माज़ी मुझे मुश्किल