Month: June 2020

हिज़्र का ज़ख्म मुहब्बत का शफ़ाख़ाना है,ऐ मेरे दिल तुझे ज़ख्मों में मुस्कुराना है- सोनिया खुरानिया

किस तरह आँख में आँसू उतार देती हो,याद-ए-माज़ी मुझे मुश्किल में डाल देती हो, हर कोई दर्द दिखाने के नहीं…